मेरा परिचय

गुरुवार, 1 जनवरी 2009

प्रशान्त कुमार (काव्यांश)

चंडीगढ़
(संघ शासित क्षेत्र)
भारत



जीवन के प्रति मेरा दृष्टिकोण:

मेरा मानना है कि जीवन एक ऐसी रहस्य-रोमांच से भरी पुस्तक (उपन्यास) की तरह है जिसके बहुत सारे पन्नों में से हर पन्ना अलग-अलग तरह की अनुभूतियों से परिपूर्ण है जैसे कि खुशी, ग़म, आश्चर्य, दुविधा इत्यादि। हर पन्ना अपने आप में अनूठा है। किस पन्ने पे क्या लिखा है? क्या होने वाला है? कोई नहीं जानता। बस हमें करना यह है कि धैर्य रखते हुए इस पुस्तक के पन्ने पलटते जाना है ताकि हम जीवन के रहस्यों का उदघाटन कर सकें और जीवन के हर अनुभव का भरपूर आनन्द ले सकें।

व्यक्तिगत रुचियाँ:
संगीत/रेडियो सुनना | काव्यकर्म | ब्लॉग लेखन

मेरे ब्लोग्स:
Kaavyansh : my diary of poems
हमसफ़र यादों का.......


7 टिप्पणियाँ
Nirmla Kapila ने कहा…

बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें

mehfil-e-sartaj ने कहा…

i like your profile so much

बेनामी ने कहा…

bahut acchi kavita hai...

RishiraJ ने कहा…

I link Your Creations. Keep oit up !!!!

Flipkart Best Offers ने कहा…

Hey, nice to see you again. i mostly read your post. good writer. let me know about new creation come soon ..

SUMIT GANGWAR ने कहा…

good sir

ramkrishna patil ने कहा…

ya cand jo mere sat jala ha ya meri tanhai ko dur karne ke liye jala ha
I pradafiu sir

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियाँ एवं विचार मेरी सोच को एक नया आयाम, एक नयी दिशा प्रदान करती हैं; इसलिए कृपया अपनी टिप्पणियाँ ज़रूर दें और मुझे अपने बहुमूल्य विचारों से अवगत होने का मौका दें. टिप्पणियाँ समीक्षात्मक हों तो और भी बेहतर.......


टिप्पणी प्रकाशन में कोई परेशानी है तो यहां क्लिक करें.......